दरभंगा की समृद्ध विरासत को बुलंद रखने में मीडिया की भूमिका अहम : डी.एम

दरभंगा की समृद्ध विरासत को बुलंद रखने में मीडिया की भूमिका अहम : डी.एम.

दरभंगा :- जिला पदाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम ने कहा है कि दरभंगा जिला का गौरवशाली इतिहास रहा है। संपूर्ण मिथिला प्रक्षेत्र में दरभंगा का अलग स्थान है। यहाँ की शैक्षणिक संरचना उत्कृष्ट स्तर का है, यहाँ के लोग हर-एक क्षेत्र में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करा चुके है, चाहे वह राजनीतिक क्षेत्र हो या शिक्षा का क्षेत्र हो अथवा प्रशासनिक क्षेत्र हो। दरभंगा के इस समृद्धिशाली विरासत को अक्षुण्ण रखते हुए इसे और आगे ले जाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। वे राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि अभी संचार क्रांति का दौर है। धीरे-धीरे सारे कार्य प्रणाली डिजिटलाइज्ड हो रहे है। डिजिटल युग में सूचनाओं का संप्रेषण बहुत तेजी से हो रहा है, लेकिन इसमें पूरी सावधानी बरतने की जरूरत है।
डिजिटल युग में सशक्त एवं संवेदनशील मीडिया के समक्ष चुनौतियाँ भी उतनी ही उभरकर आई है। डिजिटल युग में मीडिया की आचार नीति एवं चुनौतियाँ विषय पर परिचर्चा को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि आचारनीति यह कहती है कि जो चीज जैसा है, उसे वैसा ही प्रस्तुत किया जाये। किसी भी प्रसंग अथवा मुद्दा को प्रस्तुत करने से पहले इसके परिणाम एवं दृष्परिणाम की जानकारी भली-भाँति होनी चाहिए। सकारात्मक कदम से ही समृद्ध समाज का निर्माण हो सकता है। नकारात्मक सोच विनाश की ओर ही ले जायेगा।
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन राज्य नीति के तहत जिला में विकास एवं कल्याण के कार्य संचालित करता है। इस कार्य में मीडिया का सकारात्मक पक्ष जिला को विकसित करने में मददगार साबित होगा। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि दरभंगा जिला की मीडिया का जिला प्रशासन को पूरा-पूरा सहयोग मिल रहा है। इसी के चलते संकट/त्रासदी के वक्त भी जिला प्रशासन द्वारा ऑपटिमम प्रदर्शन किया जा सका है।
उन्होंने कहा कि दरभंगा की मीडिया द्वारा जब भी कोई समाचार प्रकाशित की जाती है तो यह अपने दरभंगा को ही पेश करती है। उन्होंने कहा कि दरभंगा लोकसभा निर्वाचन, दरभंगा जिला में जल-संकट, दरभंगा में बाढ़ त्रासदी आदि के वक्त मीडिया के द्वारा जिला प्रशासन को सकारात्मक सहयोग प्रदान किया गया। इसके परिणाम अच्छे रहे।
उन्होंने कहा कि दरभंगा जिला स्वास्थ्य प्रक्षेत्र में राज्य में पहली बार वंडर एप के माध्यम से एक नवोन्मेषी प्रयोग किया गया है। यह एप आश्चर्यजनक रूप से काफी सफल हो रहा है। जिला स्वास्थ्य केन्द्रों में वंडर एप के लॉचिग करने से स्वास्थ्य के सभी पारा मीटर में उल्लेखनीय सुधार होने लगे है। इस नवोन्मेषी प्रयोग को सफल बनाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण रही है।
उन्होंने कहा कि सरकार एवं प्रशासन से जनता की अपेक्षाएँ ज्यादा रहती है, लेकिन प्रशासन की सीमाएँ है। इसी सीमा में प्रशासन को डिलीवर करनी होती है। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद सकारात्मक सोच के साथ हर किसी को प्रयास करनी है।
परिचर्चा में भाग लेते हुए मो. फिरोज ने कहा कि आज के समय सोशल मीडिया का आयाम व्यापक हो गया है, लेकिन सोशल मीडिया पर नियंत्रण एवं अनुश्रवण करने हेतु सरकार को नियमावली बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि मीडिया को अपना फर्ज निभाना है अगर यह अपने फर्ज से हटती है तो इसके दुष्परिणाम को भी समाज को ही झेलना पड़ेगा। उन्होंने स्वच्छ एवं निष्पक्ष खबर पर जोर दिया।
अभिषेक कुमार का कहना था कि डिजिटल युग में जल्दवाजी के चलते कभी-कभी गलत खबर चल जाती है, जिससे बचने की जरूरत है। एम. राजा ने कहा कि अगर सावधानी बरती जाये तो डिजिटल युग में सोशल मीडिया से फायदे ही फायदे है। इसके माध्यम से गूढ़ से गुढ घटनाओं का उद्भेदन आसान हो गया है। मो. पैदल ने कहा कि पत्रकारिता की सही जानकारी नही होने के चलते भी परेशानियाँ हो रही है। उन्होंने पत्रकारिता के बारे में कार्यशाला का आयोजन करने की जरूरत पर जोर दिया। राहुल ने कहा पदाधिकारियों के साथ मीडिया की नियमित बैठक आयोजित होने से भी भ्रम की स्थिति दूर होगी।
जिलाधिकारी, दरभंगा ने मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा परिचर्चा में रखे गये विचारां का स्वागत किया। उन्होंने मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा उठाये गये मुद्दों एवं सुझावों पर अमल करने की प्रतिबद्धता प्रकट की।
राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर आयोजित परिचर्चा का संचालन जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी-सह- उप निदेशक श्री सुशील कुमार शर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी श्री मनोज कुमार झा एवं विभिन्न मीडिया हाउस के पत्रकार/छायाकार उपस्थित थे।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *